Unacademy kya hai और यह इतनी बड़ी कंपनी कैसे बनी पूरी जानकारी

unacademy kya hai

Unacademy kya hai –

बात है 2010 की जब unacademy के co-founder अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे कंप्यूटर साइंस से NAMIMS कॉलेज मुंबई से, तब दिन था 31 दिसंबर 2010 का, इस दिन ज्यादातर लोग पार्टियां करते है और अपने आने वाले सालों में वो क्या करने वाले है इसका प्लान बनाते है।

 तो इस दिन गौरव मुंजाल ने सोचा कि कुछ नया करते है तो उन्होंने व्हाइट बोर्ड उठाया और variable के ऊपर वीडियो बनाकर पोस्ट कर दी।

     जब उन्होंने ये वीडियो बनाई तो उनका इतनी बड़ी कंपनी बनाने का का कोई मकसद नहीं था ओर ना ही ऐसा कुछ सोचा था।

   धीरे धीरे वो हर हफ़्ते में वीडियो बनाकर डालने लगे, तो उसके बाद महीने भर में ही काफ़ी स्टूडेंट देश भर से उनके साथ जुड़ने लगे, उनको काफ़ी अच्छा रिस्पॉन्स मिलने लगा।

   कुछ ही दिनों बाद उन्होंने हिमेश सिंह के साथ मिलकर flatchat नाम का रियलस्टेट का स्टार्टअप शुरू किया, जिसमें उन्होंने फंडिंग भी उठाई, और साथ साथ वो वीडियो भी डालते गए।

  अभी बात करते है उनके दूसरे co-founder Roman Saini की, इनकी तो बिल्कुल अलग ही कहानी है, उन्होंने 16 साल की उम्र में ही AIIMS का एग्जाम पास कर लिया था।

  इतनी कम उम्र में लोग 10 वीं और बाहरवी नहीं कर पाते जितनी उम्र में उन्होंने AIIMS पास किया था।

  AIIMS के बाद उन्होंने UPSC भी पास कर दिया।

  गौरव मुंजाल और रोमन सैनी दोस्त थे, तो गौरव ने रोमन से बोला कि यार तुम भी वीडियो बना दो मेरे चैनल के लिए क्युकी तुमने तो UPSC भी पास किया है जिसकी काफ़ी लोग तैयारी करते है।

   तो इसके बाद रोमन सैनी ने भी गौरव के लिए वीडियो बनाना शुरू कर दिया था।

   उसके बाद हुआ यू की flatchat जो गौरव मुंजाल कि कंपनी थी उसे commonfloor ने खरीद लिया था, जिससे गौरव और हिमेश ने करीब 50 लाख रुपए कमाए।

   इंडिया में काफ़ी सारे स्टूडेंट्स अलग अलग एग्जाम की तैयारी करते रहते है तो इसके लिए उन्हें कोचिंग सेंटर की जरूरत पड़ती है।

  तो जरूरी नहीं है कि बढ़िया कोचिंग सेंटर आपके शहर में हो, और मान लो कि आपके शहर में बढ़िया सेंटर भी है पर फिर उसकी फीस बहुत ज्यादा लगेगी।

  तो गौरव मुंजाल को ये एक काफ़ी बड़ा gap लगा, जिसे वो solve करना चाहते थे।

  तो इसके लिए उन्होंने अपनी टीम बनाना शुरू कर दिया, तो हिमेश तो उनके पास पहले से थे ही जो कि की flatchat के CTO थे। उन्होंने उनको समझाया की unacademy kya hai

    उसके बाद उन्होंने रोमन सैनी को मनाया की हम unacademy जैसे अच्छे आइडिया से इंडिया का पूरा एजुकेशन सिस्टम बदल सकते है और एक बड़ा impact लेकर आ सकते है अपने देश ओर दुनिया में, तो आखिरकार रोमन सैनी भी मान गए और उन्होंने अपनी IAS की जॉब को छोड़ दिया, किसी के लिए भी इतनी बड़ी नौकरी छोड़ना बहुत बड़ा निर्णय होता है, पर कुछ बड़ा करने के लिए रिस्क को लेना ही पड़ता है।

Unacadmy का CEO कौन है –

 Unacadmy ka CEO Gaurav munjal है जो कि Unacademy का co-founder भी है।

Unacademy contact –

 

आप इस लिंक पर क्लिक करके unacademy की ऑफिसियल साईट पर जा सकते है

  किसी भी सहायता के लिए आप उनकी ऑफिशियल ईमेल पर अपनी बात/मेसेज को छोड़ सकते हो, जो कि है-

help@unacademy.com

Contact to Roman Saini roman@unacademy.in

Unacadmy का ऑफिस कहां है –

Ground floor, Park Plaza, 353, 12th A Cross Rd, Binnamangala, Hoysala Nagar, Indiranagar, Bengaluru, Karnataka 560038

 Execution of unacademy-

  तो जब उन्होंने आइडिया सोच लिया तो उसके बाद उन्होंने सबसे पहले कॉम्पिटिशन वाले एग्जाम को टारगेट किया जिसमें रोमन सैनी को बहुत ज्ञान था UPSC का, तो रोमन ने उसके ऊपर काफ़ी वीडियो बनाई जिससे कि unacademy इंडिया का नंबर 1 educational youtube चैनल बन गया।

  इसी समय पर गौरव मुंजाल और हिमेश ने unacademy की वेबसाइट पर अच्छे से काम करना शुरू किया और साल 2016 में उन्होंने unacademy की वेबसाइट को लॉन्च कर दिया।

   तो गौरव और हिमेश ने पहले भी अपना एक स्टार्टअप चलाया था तो उनको बिजनेस और टीम को संभालने का अनुभव था जिससे कि उन्होंने काफ़ी तेजी से इस बिजनेस को आगे बढ़ाया।

  

Unacademy की USP क्या है

ऑनलाइन कॉर्स के लिए तो udemy जैसी और भी काफ़ी सारे प्लेटफॉर्म है और youtube पर काफ़ी चैनल भी है जिनसे आप कुछ भी सीख सकते है तो कोई भी unacademy के पास क्यों जाएगा?

  Educator- 

               जो भी unacademy पे पढ़ना चाहता है तो वो बड़े आराम से घर बैठ कर पढ़ा सकता है कोई ज्यादा जटिल सॉफ्टवेयर नहीं है unacademy का। 

   तो इससे टीचर को काफ़ी अच्छा अनुभव होने लगा।

 और उन्होंने टीचर को पैसे भी देने शुरू कर दिया, पैसे वो view के आधार पर देते है कि जिसकी वीडियो पर जितने ज्यादा view उसे उतने ही ज्यादा पैसे मिलेंगे।

  Custmer/स्टूडेंट्स –

unacademy kya hai

                   

  1. स्टूडेंट्स के लिए उन्होंने काफ़ी समय तक अपना प्लेटफॉर्म फ्री रखा जिससे कि उनके साथ काफ़ी सारे बच्चे जुड़ गए।

2. कोई भी कहीं भी बैठ कर पढ़ सकते है घर से या कहीं से भी

 3. कोई भी अपने फोन या लैपटॉप से बड़ी आसानी से पढ़ सकता है।

 4. आप कम फीस में घर बैठ कर इंडिया के टॉप टीचर्स से पढ़ सकते है।

 5. आप लाइव अपने डाउट भी पूछ सकते है।

6. आप टेस्ट, क्विज़ या एग्जाम ये सब भी से सकते है।

 तो प्लेटफॉर्म स्टूडेंट और टीचर  दोनों के लिए काफ़ी अच्छा था तो बहुत ही तेज़ी से आगे बढ़ने लगा।

 

Unacademy funding- 

  Unacademy ने साल 2016 में सीड फंडिंग 500k डॉलर उठाए उसके बाद उसी साल 1 मिलियन डॉलर भी उठाए।

साल 2017 में उन्होंने अपना series A और Series B राउंड 4.5 और 11.5 मिलियन डॉलर उठाए।

2018 में उन्होंने Series C राउंड में 21 मिलियन डॉलर रेज किए।

 2020 के Series E राउंड में उन्होंने $120 मिलियन उठाए।

Unacademy पैसे कैसे कमाती है –

पैसे के लिए उन्होंने अपना सब्सक्रिप्शन based प्लेटफॉर्म unacademy plus लॉन्च किया।

   तो ऐसे क्या कारण थे की जिससे बच्चे उनकी फ्री वीडियो के साथ साथ plus का भी सब्सक्रिप्शन खरीद रहे थे।

 तो इसके लिए उन्होंने USP रखे कि –

  1. यहां पर हर दिन लाइव क्लास होंगी, जिससे कि क्लास के बीच में ही आप टीचर से अपना डाउट भी पूछ सकते हो।
  2. इसके अलावा स्लैब्स के आधार पर टॉप टीचर ने अच्छा कंटेंट तैयार किया होता है। तो ऐसा नहीं है कि आपका कहीं से स्लैब्स छूट जाएगा।
  3. आप लाइव कुइज भी लिख और पूछ सकते है।
  4. और सबसे बड़ी बात कि आप अपना गोल सेट कर सकते हो की आपको क्या करना है जैसे अगर आपको UPSC की तयारी करनी है तो जितनी भी टीचर upsc की तयारी करवाते है आप उन सब से सीख सकते है
  5. इसमें एक ही किताब के कई सारे टीचर पढ़ाते है जिससे कि आपको जिसका अच्छा समझ आ रहा है आप उनसे ही पढ़ सकते है।

Unacademy के प्लस सब्सक्रिप्शन के लिए आप एक साथ या हर महीने फीस दे सकते है जिससे कि उनको लगातार पैसे आते रहते है।

 जैसे कि रेलवे के लिए वो ₹250/महीने , upsc के लिए ₹2000/महीने और IIT/JEE का देखते है तो ₹1500/महीने  है तो अगर हम इसे ऑफलाइन कोचिंग सेंटर से तुलना करे तो उन सब से unacademy काफ़ी सस्ता है। 

  और दूसरी बात ये है कि ये करीब 32 एग्जाम कैटेगरी की तयारी कराते है और जल्द ही और भी शामिल करने वाले है तो इतनी सारी कैटेगरी आपको किसी और सेंटर में बड़ी मुश्किल से ही देखने को मिलेगी।

  अभी भी वो अपनी काफ़ी सारी वीडियो youtue चैनल वगैरा पर फ्री ही रखते है, इन सब से उनका जो रेवेन्यू है वो साल 2019 में 22 करोड़ रुपए था जो फरवरी 2020 तक बढ़कर 120 करोड़ हो गया।

   Unacadmy जो कि पांच साल पहले youtube वीडियो से शुरू होकर आज एक साढ़े तीन हजार करोड़ रुपए की कंपनी बन गई है

जाने मार्क ने कैसे बनायीं फेसबुक को इतनी बड़ी कंपनी

क्या unacademy फ्री है

उनके काफ़ी सारे कोर्स फ्री में भी उपलब्ध है जिन्हे कोई भी विद्यार्थी आराम से सीख सकता है और unacadmy plus पर आपको पैसे देकर कोर्स को खरीदना पड़ता है जिस पर 1000 रुपए से शुरू होकर 30000 से भी ज्यादा तक जाते है।

Unacadmy इतना महंगा क्यों है –

   

    उनका ऑफिस बंगलौर के काफ़ी महंगे इलाके में स्थित है, और ऐप को मेनटेन करने में, महंगी तकनीकी टीम, अच्छे और टॉप के टीचर जो उनके प्लेटफॉर्म पर पढ़ाते है वो उनको लाखो में महीने के पैसे देते है, सर्वर के चार्ज और उनकी टीम में और भी काम करने वाले लोग इन सब में उनके काफ़ी पैसे लग जाते है।

              तो इन सब चीजों में और अपने स्टूडेंट को क्वालिटी शिक्षा प्रदान करने के लिए उन्हें अपने स्टूडेंट से ही पैसे लेने पड़ते है।


Unacademy future plan – 

> बिजनेस प्लान क्या होता है

वो अभी इंडिया के तो सबसे बड़े ऑनलाइन कंटेंट वाले स्टार्टअप बन ही चुके है पर वो अभी इंटरनेशनल भी जा रहे है और दुनिया के भी सबसे बड़े ऑनलाइन एजुकेशन देने वाले बनना चाहते है।

  वो अभी क्लास 10th से 12th को भी पढ़ाने लगे और धीरे धीरे और भी छोटी क्लासों को पढ़ना चाहते है vedantu और byju की तरह जिससे कि वो और भी बच्चो को छोटी क्लास से ही अपने साथ जोड़ पाए।

तो जब लॉकडाउन हुआ तब स्कूल सारे बंद थे तो तब से ही unacademy की ग्रोथ बहुत ही अच्छी होने लगी थी, उनके यूट्यूब चैनल पर भी हर महीने कई  मिलियन view आते है। फिर धीरे धीरे बहुत से बच्चे जानने लगे की unacademy kya hai

अभी वो बहुत ही तेज़ी से आगे बढ़ रहे है।

unacademy जैसी ही कई और भी कंपनिया है भारत में जो की ऑनलाइन ही बच्चो को अच्छी शिक्षा उपलब्ध करवाते है तो मेरे हिसाब से तो ये edutech वाली कंपनिया काफी सही काम कर रही है क्युकी बहुत सारे बच्चे देश के हर कोने से, एक छोटे से गाव का बच्चा भी आज इस एप्प के जरिये एक सबसे अच्छे टीचर से पढ़ सकता है।

मुझे उम्मीद है की Unacademy kya hai की जानकारी आपको पसंद आई होगी, इसके बारे में आप अपनी प्रतिक्रिया निचे कमेन्ट में बता सकते है या फिर मुझसे कोई सवाल भी पूछ सकते है।और इसे अपने दोस्तों या परिवारजनों के साथ whatsapp और फेसबुक पर शेयर भी कर सकते है। धन्यवाद्

unacademy क्या है

unacademy एक ऑनलाइन एजुकेशन देने वाली कंपनी है जों बच्चो को अलग अलग तरह के ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध करती है जैसे की jee, upsc, 12th आदि, ये फ्री भी है और पैसे में भी खरीद सकते है

Unacadmy इतना महंगा क्यों है

उनका ऑफिस बंगलौर के काफ़ी महंगे इलाके में स्थित है, और ऐप को मेनटेन करने में, महंगी तकनीकी टीम, अच्छे और टॉप के टीचर जो उनके प्लेटफॉर्म पर पढ़ाते है वो उनको लाखो में महीने के पैसे देते है, सर्वर के चार्ज और उनकी टीम में और भी काम करने वाले लोग इन सब में उनके काफ़ी पैसे लग जाते है।

Unacadmy का CEO कौन है –

 Unacadmy ka CEO Gaurav munjal है जो कि अनाकैडमी का co-founder भी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *